Saturday, October 18, 2008

वे दिन वे लोग

जिंदगी में कभी - कभी ऐसे क्षण भी आते है ,जब हम अपने आप को अकेला पाते हैं सारे लोग तो हमारे पास ही होते हैं ।हमारा परिवार, मित्र , रिश्तेदार ..... पर उनसे कहाँ मिलना हो पाता है ...वह भी आज- कल की भाग -दौड़ की जिंदगी में। कभी उनके पास समय नहीं होता है, तो कभी हमारे पासऐसी परिस्थति में हम अपनी यादों के सहारे ही तो होते हैंये यादें बारिश की फुहार की तरह होती हैं जो हमारे मन को शीतल कर जाती हैं । उस क्षण हम अपने परिवार, अपने दोस्तों और हर उस व्यक्ति को याद करते हैं जिसने हमारे जीवन को प्रभावित किया है ..... चाहे वह अच्छे रूप में या बुरे
इस ब्लॉग को बनाने के पीछे मेरा एक ही उद्देश्य है कि मैं अपने बीते हुए कल को, हर एक क्षण को याद करता चलूँ जिसने मेरे जीवन को कहीं न कहीं प्रभावित किया है। ऐसा नहीं है कि मैं अपने अतीत को अपने साथ लेकर चलना चाहता हूँ ..भला ऐसा कहाँ सम्भव है कि इंसान अपनी सारी यादों को अपने साथ लेकर चल सके। ऐसा कहाँ सम्भव है कि आप किसी रस्ते पर पीछे कि तरफ देखते हुए आगे चलते रहें ...आप समझ रहें हैं न कि मैं क्या समझाना चाह रहा हूँ । इस ब्लॉग के माध्यम से मैं एक - एक क्षण को याद करने की कोशिश करूंगा।


4 comments:

Raj said...

it's really a very nice memory of ur frst frd n also a real example that time can change our feelings....

still u feel that bam-bam was ur true frd but now u have lost interest in today's bambam..
u like him only as he was then......

thts gr8

उन्मुक्त said...

बीत हुआ कल का महत्व है - पता चलता है कि क्या नहीं करना है। लिखते चलिये।

डॉ.भूपेन्द्र कुमार सिंह said...

my dear ,your writing has a very very old taste of memories ,I read them AND ENJOYED THEM AS IF THEY ARE MY FEELINGS .
aS YOU KNOW THAT MOST OF THE HUMAN FEELINGS are same.
I wish to say thanks to you for your genuine approach and open hearted vision
with love
dr.bhoopendra

डॉ.भूपेन्द्र कुमार सिंह said...

my dear ,your writing has a very very old taste of memories ,I read them AND ENJOYED THEM AS IF THEY ARE MY FEELINGS .
aS YOU KNOW THAT MOST OF THE HUMAN FEELINGS are same.
I wish to say thanks to you for your genuine approach and open hearted vision
with love
dr.bhoopendra